7 दिन शेष हैं केवल : मौलिक काव्यलेखन के लिए चुने जा रहे ब्लॉग

मौलिक काव्यलेखन के लिए चुने जा रहे ब्लॉग को वोट दें

वागर्थ भी यहाँ नामित है आप उचित समझें तो वागर्थ को भी वोट दे सकते हैं 
7  दिन शेष हैं केवल 




Vaagartha
in Hindi by Dr. Kavita Vachaknavee from United Kingdom
Post #1 | Post #2 | Post #3 | Post #4 | Post #5



इंडी ब्लोगर द्वारा आयोजित ब्लॉग-चयन की प्रक्रिया में इस बार का विषय है - "मौलिक काव्यलेखन"
नामित होने की प्रक्रिया के पश्चात कुल १८५ ब्लॉग इसके लिए नामित / स्वीकृत किए गए हैं| इनमें अंग्रेजी व कई भारतीय भाषाओं के ब्लॉग हैं| 


हिन्दी के भी कई ब्लॉग इसमें सम्मिलित हैं| 
वहाँ ब्लॉग रजिस्टर्ड होने के कारण हर बार उनका सन्देश आता था कि अमुक अमुक चयन के लिए अपने ब्लॉग की प्रविष्टियाँ दूँ. पर कभी इस ओर रूचि ही नहीं ली क्योंकि हर बार संख्याबल व प्रचार में पिछड़ने का अनुमान है मुझे| लोकप्रियता के सोपान पर बहुत पीछे रहने वाले ब्लोग्स हैं अपने तो, और फिर समय और ऊर्जा लगाने का मन ही नहीं बना कभी| औचित्य का प्रश्न और भी बड़ा था|


इस बार उनका सन्देश आया व पढ़ा तो पता चला कि इस बार काव्य के लिए नामित होने का आमंत्रण है| मुझे केवल अपनी कविताओं के कुछ लिंक उन्हें देने थे| तो सोचा, चलो इस बार लॉटरी खेली ही जाए| अपने ब्लॉग वागर्थ से कुछ लिंक्स भेज कर भूल गयी| कई दिन बाद उधर से उत्तर आया कि वागर्थ को नामित कर लिया गया है. 


इस प्रकार अब वागर्थ वहाँ है| 


आप यदि उचित समझें तो वागर्थ को यहाँ जाकर वोट कर सकते हैं| 
एक व्यक्ति अधिकतम ५ वोट दे सकता है|



Vaagartha
in Hindi by Dr. Kavita Vachaknavee from United Kingdom
Post #1 | Post #2 | Post #3 | Post #4 | Post #5
 


Cast your vote for IndiBlogger of the Month

September 2009 | Original Poetry

185 nominations

View Slideshow

4 comments:

  1. दे दिया जी आपको वोट ।

    ReplyDelete
  2. धन्यवाद विवेक ! आपने जिन भी ५ ब्लॉग को वोट दिया हो, उन सबकी ओर से !!
    :-))

    ReplyDelete
  3. आपने सही और बहुत अच्छा लिखा है कि नक्सलवाद हमारी सरकारों की नाकामियों के कारण ही पनप रहा है। अच्छे लेख के लिए बधाई।

    ReplyDelete
  4. आपने सही और बहुत अच्छा लिखा है कि नक्सलवाद हमारी सरकारों की नाकामियों के कारण ही पनप रहा है। अच्छे लेख के लिए बधाई।

    ReplyDelete

आपकी सार्थक प्रतिक्रिया मूल्यवान् है। ऐसी सार्थक प्रतिक्रियाएँ लक्ष्य की पूर्णता में तो सहभागी होंगी ही,लेखकों को बल भी प्रदान करेंगी।। आभार!

Comments system

Disqus Shortname