************************************* QR code of mobile preview of your blog Page copy protected    against web site content infringement by CopyscapeCreative Commons License
-------------------------

Subscribe to Hindi-Bharat by Email

आवागमन/उपस्थिति


View My Stats

आपकी सहभागिता चाहिए ----


कल मयंक सक्सेना ने हिन्दी दिवस का वाल पेपर के रूप में एक बहुत संग्रहणीय उपहार हिन्दी प्रेमियों को दिया था। मैंने जब देखा तो उसे अधिकतम लोगों से बांटने का लोभ संवरण नहीं कर पाई। यद्यपि उसमें कई अधिक अपेक्षित चित्र छूट गए हैं पुनरपि वह एक सकारात्मक व प्रशंसनीय प्रयास है।

मैंने तुंरत उन्हें लिखा की इसे मैं अपने याहू समूह हिन्दी भारत के सभी सदस्यों को हिन्दी दिवस के उपहार के रूप में भेज रही हूँ। किंतु केवल हिन्दी भारत पर ही भेजने की अपेक्षा मैंने उसे कई समूहों पर भेज दिया, जिस पर बहुत उत्साहवर्धक प्रतिक्रियाएँ भी मिलीं. ---


मू संदेश देखें ---




----- Original Message ---- From: Dr.Kavita Vachaknavee <..............@yahoo.com>
हिन्दी दिवस पर समूह के सभी साथियों को शुभकामनाओं सहित श्री मयंक सक्सेना के सौजन्य से एक उपहार संलग्न कर रही हूँ, जो संलग्नक के रूप में इस संदेश के साथ है. कृपया खोल कर अवलोकन करें, प्रयोग करें व मयंक जी को साधुवाद दें.

- कविता वाचक्नवी
------------ --------- --------- --------- --------- -



हिन्दी सप्ताह की इस श्रृंखला में मैंने सोचा की चलिए क्यों ना आप सबके लिए कुछ सहेजने लायक भी किया जाए ..... मतलब प्रतीकात्मक रूप में तो मित्रों मैंने हिन्दी दिवस पर माँ हिन्दी को स्तुत्य करने के प्रयास में एक वालपेपर चित्रित करने का एक सूक्ष्म सा प्रयास किया है। मैं नहीं जानता किये कोई बहुत सृजनात्मक कार्य है अथवा नहीं पर अपनी ओर से नमन का प्रयास है।

इस वालपेपर में हिन्दी को स्वरुप देने वाले कुछ महापुरुषों का चित्र है और वर्णमाला है ...... इसे उतारने के लिए नीचे दिए चित्र पर क्लिक करें और फिर इसे सेव कर लें ...... सुविधा के लिए मैंने बड़े आकार की फाइल बनाई है









इसकी प्रतिक्रया के रूप में आज कई संदेश आए कि क्या इन सब महानुभावों के नाम क्रमानुसार या वर्णमालानुसार मिल सकते हैं। सो हमारे मित्र चन्द्रमौलेश्वरजी ने व मैंने मिल कर एक अभीष्ट सूची बनाई है, ताकि जो लोग चित्रों को नाम से नहीं पहचानते हैं उन्हें सुविधा हो जाए।

यह सूची मैं यहाँ दे रही हूँ। अभी भी कुछ नाम शेष रह गए हैं। नेट पर जो भी लोग इस सूची को पूरा करने में सहयोग देना चाहें उनका स्वागत व अग्रिम धन्यवाद है.

सर्व श्री
  • घ ------ माखनलाल चतुर्वेदी
  • अ----- अमीर खुसरो
  • इ ------- मीराबाई
  • ई- ---- कबीरदास
  • औ. ------- तुलसीदास
  • ए.-------- सुभद्राकुमारी चौहान
  • ऐ.------ नीरज
  • ढ़ ---- गुलज़ार
  • य.----- जयप्रकाश नारायण
  • र. ----- गांधीजी
  • ओ. ---- सुमित्रानंदन पंत
  • न. ------ अशोक वाजपेयी
  • च. ---------महादेवी वर्मा
  • ड. ----------मुंशी प्रेमचंद
  • प--------- नामवर सिंह
  • ल. ---------अशोक चक्रधर
  • व. --------राम मनोहर लोहिया
  • अं.-------- सूर्यकांत त्रिपाठी निराला
  • ध. --------मैथिलीशरण गुप्त
  • --------- यशपाल
  • ब.---------- बाबा नागार्जुन
  • श----------कमलेश्वर
  • क.---------- रामधारी सिंह दिनकर
  • ख.----------हरिवंश राय बच्चन
  • . ----------अज्ञेय
  • न --- अशोक वाजपेयी
  • ल -------- अशोक चक्रधर
  • ग ------- हरिवन्शराय बच्चन
  • ऊ -------- भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
  • झ ----------जयशंकर प्रसाद
  • ( - तुलसी दास व --- महादेवी वर्मा के बीच में हैं) --- महावीर प्रसाद द्विवेदी
  • नीचे दाहिनी ओर - -------विष्णु प्रभाक.

आप भी इस सूची को पूरा करने में अपना योगदान देकर हिन्दी दिवस के इस छोटे से अभियान की सफलता में सहभागी बन सकते हैं...... प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा है .....
आपकी सहभागिता चाहिए ---- आपकी सहभागिता चाहिए ---- Reviewed by Kavita Vachaknavee on Sunday, September 14, 2008 Rating: 5

7 comments:

  1. इन महापुरुषों के दर्शन कराने के लिए धन्यवाद।

    ReplyDelete
  2. anekta men ekta ke darshan. yahi hai bharat ki pahchan. aap jante hai aakash(Bharat) ka matalab? sabko apne aap me samete rahana.
    yahi hai bharat ki pahachaan

    ReplyDelete
  3. ye jo kram jamayen gaye hai unme
    PRABHU JOSHI
    UDAYAPRAKASH
    POORNIMA VARMAN
    jaise kai naam chchoot gaye hai jo mahaan sahityakaar hai.

    ReplyDelete
  4. बहुत ही सार्थक एवं सराहनीय कदम है. भाई मयंक सक्सेना जी को साधुवाद और आपको आभार.

    ReplyDelete
  5. आप इन नामों को कॉपी क्यों नहीं करने देते?
    अजय कुलश्रेष्ठ

    ReplyDelete
  6. प्रयास सराहनीय है पर उत्तर क्रमबद्ध क्यों नहीं है? थ,ढ,और म आदि का उत्तर कहाँ है? जयप्रकाश नारायण, राम मनोहर लोहिया और महात्मा गाँधीं की हिन्दी कृतियों कौन सी हैं?

    अजय कुलश्रेष्ठ

    ReplyDelete
  7. गुलज़ार को शामिल करने से पहले, शैलेन्द्र, भरतव्यास और अनजान का नाम लिखना चाहिए. गुलज़ार महोदय यहाँ न जोड़ा जाय तो ही अच्छा.

    ReplyDelete

आपकी सार्थक प्रतिक्रिया मूल्यवान् है। ऐसी सार्थक प्रतिक्रियाएँ लक्ष्य की पूर्णता में तो सहभागी होंगी ही,लेखकों को बल भी प्रदान करेंगी।। आभार!

Powered by Blogger.